मध्यप्रदेश में कितने संभाग हैं? How many divisions are in Madhya Pradesh (MP)?

मध्य प्रदेश मूल रूप से 1 नवंबर, 2000 तक भारत का सबसे बड़ा राज्य था, जब छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण किया गया था। विभाजन के बाद मध्यप्रदेश के ऊपर से सबसे बड़े राज्य होने का दर्जा हट गया। मध्यप्रदेश में कितने संभाग हैं? madhya pradesh me kitne sambhag h

madhya pradesh me kitne sambhag h

ऐतिहासिक रूप से इसे मालवा के नाम से जाना जाता है। क्षेत्र की प्रमुख भाषा हिंदी है। मराठों के शासन के कारण, मराठी पर्याप्त संख्या में लोगों द्वारा बोली जाती है। यह उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, राजस्थान और गुजरात राज्यों की सीमा बनाती है। मध्यप्रदेश में 10 संभाग हैं इसमें 52 जिले शामिल हैं, जिन्हें दस संभाग में बांटा गया है। अनूपपुर, अशोकनगर और बुरहानपुर 15 अगस्त 2003 को गठित तीन जिले हैं। मध्यप्रदेश में कितने संभाग हैं? How many division are in Madhya Pradesh (MP)?

मध्य प्रदेश के 10 संभागों के अंतर्गत जिले:

  • भोपाल संभाग – भोपाल, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, विदिशा
  • ग्वालियर संभाग – अशोकनगर, शिवपुरी, दतिया, गुना, ग्वालियर
  • नर्मदापुरम संभाग – हरदा, होशंगाबाद, बैतूल
  • चंबल संभाग – मुरैना, श्योपुर, भिंड
  • इंदौर संभाग – बरवानी, बुरहानपुर, धार, इंदौर, झाबुआ, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर
  • जबलपुर संभाग – बालाघाट, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, मंडला, नरसिंहपुर, सिवनी
  • रीवा संभाग – रीवा, सतना, सीधी, सिंगरोली
  • सागर संभाग – छतरपुर, दमोह, पन्ना, सागर, टीकमगढ़
  • शहडोल संभाग – शहडोल, उमरिया, डिंडोरी, अनूपपुर
  • उज्जैन संभाग – देवास, मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर, उज्जैन
  • वर्तमान में सभी जिले अपनी राजधानियों के समान नाम साझा करते हैं; पश्चिम निमाड़ को खरगोन और पूर्वी निमाड़ को खंडवा नाम दिया गया है
Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *