झारखंड की सम्पूर्ण जानकारी

राजधानी- राँची
क्षेत्रफल- 79,714sq.km.
जनसंख्या- 3,11,69,272
प्रधान भाषा- हिंदी

भूगोल

झारखंड जो 15 नवंबर 2000 को 28 वें राज्य के रूप में अस्तित्व में आया, वह उन आदिवासियों की मातृभूमि है, जिन्होंने लंबे समय से अलग राज्य का सपना देखा था। पौराणिक कथा के अनुसार, ओडिशा के राजा जय सिंह देव ने 13 वीं शताब्दी में खुद को झारखंड का शासक घोषित किया था। इसमें मुख्य रूप से छोटानागपुर पठार और संथाल परगना के वन ट्रैक शामिल हैं और अलग-अलग सांस्कृतिक परंपराएं हैं। स्वतंत्रता के बाद के युग में, झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक नियमित आंदोलन शुरू किया, जिसने सरकार को 1995 में झारखंड क्षेत्र स्वायत्त परिषद और अंततः एक पूर्ण राज्य स्थापित करने के लिए बाध्य किया।

झारखंड पूर्व में पश्चिम बंगाल, पश्चिम में उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़, उत्तर में बिहार और दक्षिण में ओडिशा से घिरा है।

कृषि

राज्य का क्षेत्रफल 79,714 वर्ग किमी है जिसमें से 18,423 वर्ग किमी वन भूमि है। कृषि और संबद्ध गतिविधियाँ झारखंड की अर्थव्यवस्था का प्रमुख स्रोत हैं। कुल खेती योग्य भूमि केवल 38 लाख हेक्टेयर है।

सिंचाई और बिजली

दामोदर, मोराक्षी, बाराकर, उत्तरी कोयल, दक्षिण कोयल, सांख, सुवर्णरेखा, खरकई और अजय राज्य के प्रमुख जल संसाधन हैं। शुद्ध बोया गया क्षेत्र 1.8 मिलियन हेक्टेयर है जिसमें 8 प्रतिशत सिंचित है।

झारखंड में बिजली की स्थापित क्षमता 2,590 मेगावाट है। इसमें 420 मेगावाट (तेनुघाट थर्मल पावर स्टेशन), 840 मेगावाट (पतरातू थर्मल पावर स्टेशन), 130 मेगावाट (सिक्किदिरी हाइडल प्रोजेक्ट) और 1,200 मेगावाट (दामोदर घाटी निगम थर्मल / हाइडल प्रोजेक्ट) शामिल हैं। विभिन्न बिजलीघरों के थर्मल और हाइडल दोनों क्षेत्रों में क्षमता वृद्धि की संभावना 4,736 मेगावाट है। इसमें 686 मेगावाट हाइडल जेनरेशन शामिल है।

उद्योग और खनिज

झारखंड के कुछ प्रमुख उद्योग हैं: सार्वजनिक क्षेत्र में बोकारो स्टील प्लांट, निजी क्षेत्र में जमशेदपुर में टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी (टिस्को)। अन्य महत्वपूर्ण उद्योग हैं टाटा इंजीनियरिंग और लोकोमोटिव कंपनी (TELCO), टिमकेन इंडिया लिमिटेड (जमशेदपुर), भारत कोकिंग लिमिटेड (धनबाद), खिलेरी सीमेंट फैक्ट्री (पलामू), इंडियन एल्युमीनियम (मुरी)। एसीसी सीमेंट (चाईबासा), सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (रांची), उषा मार्टिन, उषा बेल्ट्रॉन, यूरेनियम कॉर्पोरेशन (I) लिमिटेड (जादुगोरा), हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड (मुसाबनी), टिन प्लेट कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (जमशेदपुर), इंडियन एक्सप्लोसिव लिमिटेड ( गोमिया), और हिंडाल्को बॉक्साइट (लोहरदगा), आदि।

राज्य खनिज संसाधनों से समृद्ध है। उपलब्ध महत्वपूर्ण खनिज कोयला, लौह अयस्क, चूना पत्थर, तांबा अयस्क, बॉक्साइट, पाइराइट, चाइना क्ले, केनाइट, फाइन क्ले, डोलोमाइट, ग्रेफाइट, बेंटोनाइट, सोप स्टोन, क्वार्ट्ज सैंड और सिलिका सैंड हैं। झारखंड के नवजात राज्य में कोयला, अभ्रक और अन्य खनिजों विशेषकर सिंहभूम, बोकारो, हजारीबाग, रांची, कोडरमा और धनबाद के शोषण की प्रबल संभावना है।

ट्रांसपोर्ट

सड़कें: राज्य में सड़कों की कुल लंबाई 4,311 किलोमीटर है। इसमें 1,500 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग और 2,711 किलोमीटर राज्य राजमार्ग शामिल हैं।

रेलवे: राज्य में एक अच्छी तरह से विकसित रेलवे प्रणाली है। रांची, बोकारो, धनबाद, जमशेदपुर कुछ प्रमुख रेलवे स्टेशन हैं।

उड्डयन: रांची दिल्ली, पटना और मुंबई से जुड़ा हुआ है। जमशेदपुर, बोकारो, गिरिडीह, देवघर, हजारीबाग, डाल्टनगंज और नोआमुंडी में हवाई पट्टी हैं।

पर्यटक केंद्र

राज्य में इचागढ़ पक्षी अभयारण्य, उधवा पक्षी अभयारण्य-साहिबगंज (पथरा झील), चच्रो क्रोकोडाइल ब्रीडिंग सेंटर-कोडरमा (तिलया डैम), चंद्रपुरा पक्षी अभयारण्य, जवाहरलाल नेहरू प्राणि उद्यान (बोकारो), तेनुघाट में कई दर्शनीय स्थल हैं। अभयारण्य, दलमा वाइल्ड लाइफ सैंक्चुरी (जमशेदपुर), टाटा स्टील जूलॉजिकल पार्क (जमशेदपुर), पालकोट वाइल्ड लाइफ सैंक्चुअरी (गुमला), भगवान बिरसा जूलॉजिकल गार्डन (रांची), बिरसा डियर सैंक्चुअरी (कलमाटी रांची), बेतला नेशनल पार्क (पलामू), रांची। एक्वेरियम (रांची) और हजारीबाग नेशनल पार्क, टाटोलोई गर्म पानी की धारा (दुमका) और सारंडा वन।

उपरोक्त के अलावा, झारखंड में कुछ प्रसिद्ध मंदिर हैं जैसे, झारखंड धाम, लग्नता बाबा मंदिर / मज़ार, बिंदवासिनी मंदिर, मसंजोर बांध, आदि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *