भारत की “फलों की राजधानी” किसे कहा जाता है? Bharat ki falon ki rajdhani kise kaha jata hai?

food capital of india

Bharat ki falon ki rajdhani kise kaha jata hai? त्रिपुरा को रानी अनानास के लिए जाना जाता है, इसके अलावा, कई अन्य राज्य और शहर एक महत्वपूर्ण किस्म के फल के उत्पादक हैं और अक्सर इसे ‘फलों की राजधानियाँ’ कहा जाता है।
यहाँ भारत की शीर्ष 10 फलों की राजधानियाँ हैं:

2.हिमाचल प्रदेश: सेब
हिमाचल प्रदेश सेब का एक प्रमुख उत्पादक है। हिमाचल प्रदेश के कोटगढ़ को भारत का सेब का कटोरा कहा जाता है।हिमाचल प्रदेश को “फलों का कटोरा” या “फ्रूट बाउल” कहा जाता है।

3 गोवा:
गोअन काजू एक प्रीमियम गुणवत्ता के होते हैं और वे एक उत्कृष्ट मूल्य प्राप्त करते हैं।

4 महाबलेश्वर: स्ट्राबेरी

एक हिल स्टेशन होने के नाते, महाबलेश्वर भारत की स्ट्रॉबेरी राजधानी है। पर्यटक पूरे देश में विशाल स्ट्रॉबेरी फार्मों की यात्रा कर सकते हैं।

5 इलाहाबाद: ग्वास

इलाहाबादी अमरूद अपने स्वाद और गुणवत्ता के लिए प्रसिद्ध हैं। सफेदा और सुरखा सबसे लोकप्रिय किस्में हैं।

6 रत्नागिरी: अल्फांसो

ये आम अपने मीठे स्वाद के लिए देश भर में प्रसिद्ध हैं। यही कारण है कि वे भारत में सबसे महंगी विविधता हैं।

7 महाराष्ट्र: केले

यह बिहार के बाद केले का सबसे बड़ा उत्पादक है। सबसे लोकप्रिय खेत जलगांव शहर में स्थित हैं।

8 गुजरात: चीकू

चीकू या सपोता गुजरात में बहुत लोकप्रिय फलों की फसलों में से एक है, लेकिन वे महाराष्ट्र, कर्नाटक और तमिलनाडु राज्यों में भी उगाए जाते हैं।

9 मध्य प्रदेश: बेर

बेर को भारतीय बेर फल भी कहा जाता है। मध्य प्रदेश के अलावा, यह बिहार और पंजाब में भी उगाया जाता है।

10 पुणे: अंजीर
पुणे अंजीर का सबसे बड़ा उत्पादक या अंजीर है जिसमें 900 हेक्टेयर से अधिक खेती योग्य भूमि है। इन सब के अलावा त्रिपुरा को रानी अनानास के लिए जाना जाता है।

Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *