भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश

bharat ke mukhya nyayadhish रंजन गोगोई की नियुक्ति देश के 45वें मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के सेवानिवृत्त होने के बाद हुई थी।

भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश

रंजन गोगोई – भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश

  • एक परिचय

पूर्वोत्तर भारत से पहली बार सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के पद पर पँहुचने वाले रंजन गोगोई का संबन्ध भारत के राज्य असम है। रंजन गोगोई का जन्म 18 नवंबर 1954 को आसाम के डिब्रूगढ़ में हुआ था। रंजन गोगोई के पिता भी एक जाने माने राजनेता थे। इनके पिता का नाम केसब चन्द्र गोगोई था। केसब चन्द्र गोगोई असम के 9वें मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। हालांकि बतौर मुख्यमंत्री इनका कार्यकाल सिर्फ 2 महीने का ही रह था।

रंजन गोगोई की आंरभिक शिक्षा डिब्रूगढ़ के ही डॉन बॉस्को स्कूल से ही हुई थी। इसके बाद वह दिल्ली आ गए जहां से उन्होंने St. Stephen’s College दिल्ली से ही इतिहास विषय में Graduation पूरी की। इसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री हासिल की।

रंजन गोगोई का सफर

इन्होंने 1978 से गुवाहाटी हाई कोर्ट में वकालत शुरू की। इसके बाद वह 28 फरवरी 2001 को गुवाहाटी हाई कोर्ट के ही जज बनाए गए। इसके बाद गोगोई का तबादला  9 सितंबर 2010 को पंजाब और हरयाणा हाई कोर्ट में कर दिया गया जहां 12 फरवरी 2011 को को इसी न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किए गए। इसके बाद इनका प्रोमोशन हुआ और इनकी नियुक्ति बतौर सर्वोच्च न्यायालय के जज के रूप में हो गई। इसके बाद वह 3 अक्टूबर 2018 को सर्वोच्च न्यायालय  के 46वें मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किए गए।

बता दें कि रंजन गोगोई इससे पहले तब चर्चा में आए थे, जब भारत के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों ने विभिन्न समस्याओं को ले कर संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस किया था। रंजन गोगोई इस 5 जजों में से एक थे। इसके कुछ समय बाद ही रंजन गोगोई की नियुक्ति बतौर मुख्य न्यायाधीश हुई थी।

Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *