भारत का प्रथम कैशलेस राज्य कौनसा है ?

दोस्तों आज की जानकारी विभिन्न प्रकार के exams के लिए महत्वपूर्ण है इसीलिए कृपया पोस्ट पूरी पढ़े।

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम भारत सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है, जिसमें भारत को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और ज्ञान अर्थव्यवस्था में बदलने की दृष्टि है। “फेसलेस, पेपरलेस, कैशलेस” डिजिटल इंडिया की एक महत्वपूर्ण भूमिका है।

कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने और भारत को कम नकदी वाले समाज में परिवर्तित करने के लिए, डिजिटल भुगतान के विभिन्न तरीके उपलब्ध हैं। इन्हीं तरीको का उपयोग कर गोवा कैशलेस होने वाला भारत का पहला राज्य है क्योंकि लोग अपने मोबाइल पर एक बटन के प्रेस पर मछली, मांस, सब्जियां या अन्य कुछ भी खरीद सकते हैं।

खरीद के लिए अपने पर्स को ले जाने की कोई आवश्यकता नहीं होती,क्योंकि सभी लेनदेन मोबाइल पर किए जाते हैं

भुगतान कैसे होता है?

लोगों को अपने मोबाइल फोन से * 99 # डायल करना होता है, जरूरी नहीं कि एक स्मार्ट फोन हो, और टट्रांसेक्शन पूरा करने के लिए निर्देशों का पालन करना होता है। यह प्रणाली उन छोटे विक्रेताओं को पैसा हस्तांतरित करने के लिए शुरू की है जिनके पास स्वाइप मशीन नहीं है। दुकानों और प्रतिष्ठानों पर एटीएम और क्रेडिट कार्ड की स्वाइपिंग भी जारी है।

विक्रेताओं और छोटी दुकानों के लिए कैशलेस लेन-देन को कैसे संचालित किया जाए, इसके बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए एक अभियान चलाया गया जिससे लोग समझदारी एवम सुरक्षित तरीके से लेंन देंन कर सके

Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *